Al Baith Meaning in Hindi | अल बाइस नाम के फायदे

अस्सलाम अलैकुम दोस्तों, इस वेबसाइट पर 99 names of allah का सीरीज स्टार्ट किया गया है जिसमे अल्लाह के 99 नाम के बारे में बताया जा रहा है जिसमे आज आपको Al Baith के बारे में सिखने को मिलने वाला है.

आज आपको जानने को मिलेगा Al Baith का मतलब क्या है, इसे कब और कितनी बार पढना चाहिए, और इसे पढने से क्या फायदा होने वाला है.

Al Baith Meaning in Hindi

الْبَاعِثُ
AL-BA’ITH
(उठाने वाला)

अल्लाह वो है के जो बा-रोज़ क़यामत तमाम बंदो को इसकी क़ब्रों से उठा कर मैदान हैश में जजा वा सज़ा के लिए जमा करने वाले हैं।

अल बाइस को कब पढ़े?

Al Baith पढने के लिए कोई भी समय मुक़र्रर नहीं है जब आपके पास समय हो पढ़ सकते है लेकिन बेहतर ये होता है की किसी भी नमाज़ के बाद पढ़े.

क्युकी नमाज़ के बाद पढने का मतलब यही है की आप पाक व साफ़ वजू के साथ होते है और इस हालत में पढ़ते है तो दुआ कुबूल होने का ज्यादा चांस ज्यादा होता है.

अगर आप चाहे तो नमाज़ के बाद अल मालिक को 100 बार पढ़ सकते है.

अल बाइस के फायदे और वजीफा क्या है?

benefits of reciting Al Baith

  • अगर कोई शख्स रोज़ाना सोते वक़्त सीने पर हाथ रखे और फिर एक सौ एक बार या बाइसु पढ़े इंशाअल्लाह उसका दिल इल्म और हिकमत से ज़िन्दा हो जायेगा
  • जो शख्स इस नामे पाक को 201 मर्तबा सीने पर हाथ रखकर पढ़ेगा उसका दिल ईमान के नूर से मुनव्वर हो जाएगा
  • जो रोज़ाना सोते वक़्त सीने पर हाथ कर 100 बार या बा इसु पढ़ा करे इंशाअल्लाह उसका दिल इल्म हिकमत से ज़िन्दा हो जायेगा
  • जो इस नाम को रोज़ाना 100 बार पढ़ने का रूटीन बना ले उस से इंशाअल्लाह नेकियाँ होंगी और बुराइयों से महफूज़ रहेगा
  • जो इस नाम को पढ़ता रहेगा तो अल्लाह का डर उसपर ग़ालिब रहेगा


5/5 - (1 vote)

Leave a Comment