Al Hafiz Meaning in Hindi | अल हफीज़ नाम के फायदे

अस्सलाम अलैकुम दोस्तों, इस वेबसाइट पर 99 names of allah का सीरीज स्टार्ट किया गया है जिसमे अल्लाह के 99 नाम के बारे में बताया जा रहा है जिसमे आज आपको Al Hafiz के बारे में सिखने को मिलने वाला है.

आज आपको जानने को मिलेगा Al Hafiz का मतलब क्या है, इसे कब और कितनी बार पढना चाहिए, और इसे पढने से क्या फायदा होने वाला है.

Al Hafiz Meaning in Hindi

الْحَفِيظُ
AL-HAFIZ
(निगेहबान)

अल्लाह वो है के जो अपनी बनाए कायनात की तमाम मखलोक़ात की सभी बारिकियों को बा-खुबी जाने वाला है, लोगों से छुपा हुआ कोई भी मामला अल्लाह से छुपा हुआ नहीं है।

अल हफीज़ को कब पढ़े?

Al Hafiz पढने के लिए कोई भी समय मुक़र्रर नहीं है जब आपके पास समय हो पढ़ सकते है लेकिन बेहतर ये होता है की किसी भी नमाज़ के बाद पढ़े.

क्युकी नमाज़ के बाद पढने का मतलब यही है की आप पाक व साफ़ वजू के साथ होते है और इस हालत में पढ़ते है तो दुआ कुबूल होने का ज्यादा चांस ज्यादा होता है.

अगर आप चाहे तो नमाज़ के बाद अल मालिक को 100 बार पढ़ सकते है.

अल हफीज़ के फायदे और वजीफा क्या है?

benefits of reciting Al Hafiz

  • अल्लाह का ये नाम सफ़र में किसी भी तरह के खतरे से हिफ़ाज़त के लिए बहुत फ़ायदेमंद है अगर इस नाम को पढ़ कर किसी खतरनाक जगह सो भी गया तो इंशाअल्लाह नुक़सान से महफूज़ रहेगा बस इस नाम के ज़िक्र के बाद तीन बार “या हफीज़ु इह्फिज्नी” भी पढ़ ले
  • अगर इस नाम को किसी बीमार पर 70 बार रोज़ाना 40 हफ्ते तक पढ़ कर दम किया जाये तो इंशाअल्लाह बीमार तंदुरुस्त हो जायेगा
  • इस नाम के मायने हैं हिफाज़त करने वाला अल्लाह ही सबका मुहाफिज है वही हमें सारी बुराइयों व आफत से बचाने वाला है और हमारी देखभाल करने वाला है!
  • इस नाम का विर्द करने वाला सारी बुराइयों से बचेगा! शैतान का वार उस पर ना चल सकेगा और उसका कोई दुश्मन उस पर ग़ालिब ना आ सकेगा!
  • जो शख्स जलने डूबने और नाज़रेबद यानी नज़र लगने से डरता हो इस नाम को 16 पढ़े और इसका नख़्स बनाकर बाज़ू पर बांधे मतलब हाथ पर बांधे इंशा अल्लाह हर आफत से बैखौफ हो जाएगा!
  • जो या हफीज़ु का ज़िक्र ख़ूब करे या लिख कर अपने पास रखे वो इंशाअल्लाह हर तरह के खौफ़ और ख़तरे से महफूज़ हो जायेगा
  • ये नाम ख़तरनाक सफ़र में हिफ़ाज़त के लिए बहुत फायेदेमंद है यहांतक कि अगर इसे पढ़कर दरिंदों के दरमियान सो जाये तो इंशाअल्लाह नुक़सान नहीं पहुंचा सकेंगे, इस नाम के ज़िक्र के बाद 3 बार या हफीज़ु इह्फिज्नी पढ़ ले
  • इसको पढ़ने वाला और अपने पास लिख कर रखने वाला डूबने, जलने, देव, परी और बुरी नज़र से इंशाअल्लाह महफूज़ हो जायेगा


Rate this post

Leave a Comment