Al Mu’min Meaning in Hindi |अल मुअ’मिन के फायदे

5/5 - (1 vote)

अस्सलाम अलैकुम दोस्तों, इस वेबसाइट पर 99 names of allah का सीरीज स्टार्ट किया गया है जिसमे अल्लाह के 99 नाम के बारे में बताया जा रहा है जिसमे आज आपको Al Mu’min के बारे में सिखने को मिलने वाला है.

आज आपको जानने को मिलेगा Al Mu’min का मतलब क्या है, इसे कब और कितनी बार पढना चाहिए, और इसे पढने से क्या फायदा होने वाला है.

Al Mu’min Meaning in Hindi

الْمُؤْمِنُ
AL-MU’MIN
(अमन देने वाला)

अल्लाह वो है जो अपने रसूलों और में के पैरो कारों की सच्चाई और इनकी सदाकत पर दलालत करने वाला दलील वा हुज्जतों की तस्दीक करने वाला है, और हर तरह का अमन भी इन्हें अल्लाह ही की जानिब से मिलता है। अल्लाह ने अपने ईमान वाले बंदो को इस बात की जमानत दी है के वो इनपर जरा बराबर भी ज़ुल्म न करेगा, इनहे अज़ाब ना दूंगा, और ना बरोज़-ए-कयामत में कोई घबराहत वा परशानी की कैफ़ियात होगी।

अल मुअ’मिन को कब पढ़े?

Al Mu’min पढने के लिए कोई भी समय मुक़र्रर नहीं है जब आपके पास समय हो पढ़ सकते है लेकिन बेहतर ये होता है की किसी भी नमाज़ के बाद पढ़े.

क्युकी नमाज़ के बाद पढने का मतलब यही है की आप पाक व साफ़ वजू के साथ होते है और इस हालत में पढ़ते है तो दुआ कुबूल होने का ज्यादा चांस ज्यादा होता है.

अगर आप चाहे तो नमाज़ के बाद अल मालिक को 100 बार पढ़ सकते है.

अल मुअ’मिन के फायदे और वजीफा क्या है?

  • जो खूब इस नाम को पढेगा उसका ईमान क़ायम रहेगा और मख्लूक़ उसकी फरमाबरदार होगी
  • जो कोई रोजाना 3 बार यह नाम पढ़ने का मामूल रखेगा उसको कोई डर नहीं होगा
  • जो कोई 136 बार यह नाम मुबारक पड़ेगा जालिमों के ज़ुल्म से और तमाम आफतों से महफूज रहेगा
  • खौफ़ ज़दा आदमी अगर फर्ज नमाज़ो के बाद 36 बार इस नाम को पढ़ेगा तो उसकी जान और माल महफूज़ रहेंगे
  • जिस पर खौफ तारी हो वह “या सलामु या मुआमिनु” पढ़ा करे, खासकर मुसाफिर इसका पढ़ते रहें तो अल्लाह तआला की तरफ से अम्नो सलामती नसीब होगी
  • जीवन भर के लिए रोजाना 1000 बार या मोमिनो वज़ीफ़ा का विर्द करें। सभी लोग आपका सम्मान करेंगे और आप जो कहेंगे उसका पालन करेंगे।
  • जो शख्स किसी खौफ के वक्त 630 बार इस नाम को पढ़ेगा इंशाअल्लाह हर तरह के खौफ़ और नुक़सान से महफूज़ रहेगा
  • जो इस नाम को 115 बार पढ़ कर अपने ऊपर दम करेगा इंशाअल्लाह हर तरह के खौफ़ और नुक़सान से महफूज़ रहेगा
  • जो कोई इस नाम को पढ़े या अपने पास लिख कर रखे, उसका ज़ाहिर और बातिन अल्लाह तआला की अमान में रहेगा
  • इस नाम को एक कोरे कागज पर 1000 बार लिखें। इसे तावीज़ के रूप में मोड़ें और गले में पहनें या दाहिने हाथ पर बाँध लें। यह आपको सभी बुराइयों और शैतानों से सुरक्षित रखेगा।


Sharing Is Caring:

Leave a Comment