Ar Rafi Meaning in Hindi | अर रफ़ी नाम के फायदे

अस्सलाम अलैकुम दोस्तों, इस वेबसाइट पर 99 names of allah का सीरीज स्टार्ट किया गया है जिसमे अल्लाह के 99 नाम के बारे में बताया जा रहा है जिसमे आज आपको Ar Rafi के बारे में सिखने को मिलने वाला है.

आज आपको जानने को मिलेगा Ar Rafi का मतलब क्या है, इसे कब और कितनी बार पढना चाहिए, और इसे पढने से क्या फायदा होने वाला है.

Ar Rafi Meaning in Hindi

الرَّافِعُ
AR-RAFI
(बलंद करने वाला)

लोगों के यहाँ कमज़ोर वा आजिज़ समझे जाने वाला इमानदार बंदो को सरबुलंदी और बालादस्ति अता करने वाला है।

अर रफ़ी को कब पढ़े?

Ar Rafi पढने के लिए कोई भी समय मुक़र्रर नहीं है जब आपके पास समय हो पढ़ सकते है लेकिन बेहतर ये होता है की किसी भी नमाज़ के बाद पढ़े.

क्युकी नमाज़ के बाद पढने का मतलब यही है की आप पाक व साफ़ वजू के साथ होते है और इस हालत में पढ़ते है तो दुआ कुबूल होने का ज्यादा चांस ज्यादा होता है.

अगर आप चाहे तो नमाज़ के बाद अल मालिक को 100 बार पढ़ सकते है.

अगर कोई शख्स दोशम्बा के दिन या जुमा की रात मगरिब या ईशा की रात को चार सौ चालीस बार अल्लाह के इस नाम को पढ़े तो इंशाअल्लाह मख्लूक़ में वो वो मुअज्ज़ज़ और बा रौब होगा

अर रफ़ी के फायदे और वजीफा क्या है?

benefits of reciting Ar Rafi

  • दिन में या रात में 100 मर्तबा पढ़े मालदार हो जाए दुनिया की हर तकलीफ दूर हो जायेगी
  • जो कोई पीर के दिन या जुमा की रात मगरिब या ईशा के बाद 440 बार इसको पढ़ेगा उसे मख्लूक़ के दरमियान एक रौब नसीब होगा
  • जो कोई इस नाम को हर रोज़ 20 बार पढ़ेगा इंशाअल्लाह वो अपनी मुराद पा लेगा
  • जो कोई इसे 351 बार पढ़ेगा वो मख्लूक़ के दरमियान अज़ीज़ होगा
  • जो इसे 70 बार पढ़ेगा वो जालिमों से अमन में रहेगा


5/5 - (1 vote)

Leave a Comment