Ar Razzaq Meaning in Hindi | अर रज्ज़ाक नाम के फायदे

अस्सलाम अलैकुम दोस्तों, इस वेबसाइट पर 99 names of allah का सीरीज स्टार्ट किया गया है जिसमे अल्लाह के 99 नाम के बारे में बताया जा रहा है जिसमे आज आपको Ar Razzaq के बारे में सिखने को मिलने वाला है.

आज आपको जानने को मिलेगा Ar Razzaq का मतलब क्या है, इसे कब और कितनी बार पढना चाहिए, और इसे पढने से क्या फायदा होने वाला है.

Ar Razzaq Meaning in Hindi

الرَّزَّاقُ
AR-RAZZAQ
(रिजक देने वाला)

ये अल्लाह का एक ऐसा नाम है जो अल्लाह के अपनी तमाम मखलोक़ात को रोज़ी फरहेम करने वाला होने पर दलालत करता है, अल्लाह के रोज़ी फराहम करने का अंदाज़ इस दरजे उम्दाह और बे-मिसाल है के, मखलूक के मांगे बगैर ही इन्हें रोजियां आता करता है, बालक मखलूक की न फरमानियां और गुनाहों के बा-वजूद इन्हें आता करता है।

अर रज्ज़ाक को कब पढ़े?

Ar Razzaq पढने के लिए कोई भी समय मुक़र्रर नहीं है जब आपके पास समय हो पढ़ सकते है लेकिन बेहतर ये होता है की किसी भी नमाज़ के बाद पढ़े.

क्युकी नमाज़ के बाद पढने का मतलब यही है की आप पाक व साफ़ वजू के साथ होते है और इस हालत में पढ़ते है तो दुआ कुबूल होने का ज्यादा चांस ज्यादा होता है.

अगर आप चाहे तो नमाज़ के बाद अल मालिक को 100 बार पढ़ सकते है.

बेशक हमें वही रोजी देता है जो शख्स सुबह सादिक के वक़्त यानि फज़र की नमाज़ से पहले घर के चारो कोनो में पढ़कर इस तरह दम करे की सीधे हाथ के कोने से शुरू करे मुँह क़िबला की तरफ रखे. और फिर चारो कोनो में Ya Razzaku 10-10 मर्तबा पढ़कर दम करता जाए इंशाअल्लाह घर में कभी फाका नहीं होगा.

अर रज्ज़ाक के फायदे और वजीफा क्या है?

benefits of reciting Ar Razzaq

  • जो शख्स अपने मकान के चारों कोनों में सुबह की नमाज़ से पहले 10 -10 बार यह नाम पढ़कर दम करेगा, अल्लाह तआला उस पर रिज्क के दरवाजे इंशाअल्लाह खोल देंगे, बीमारी और मुफलिसी उसके घर में हरगिज़ नहीं आएगी ( पढ़ने की शुरुआत दाहिने कोने से करें और मुंह किबले (यानि काबा) की तरफ रखें ).
  • जो इस नाम को नहार मुंह 20 बार पढ़ने का रूटीन बनाले तो अल्लाह तआला ऐसा ज़हन अता फरमाते हैं जो बारीक और मुश्किल चीज़ों को भी समझ लेता है.


5/5 - (1 vote)

Leave a Comment