Ash Shaheed Meaning in Hindi | अश शहीद नाम के फायदे

अस्सलाम अलैकुम दोस्तों, इस वेबसाइट पर 99 names of allah का सीरीज स्टार्ट किया गया है जिसमे अल्लाह के 99 नाम के बारे में बताया जा रहा है जिसमे आज आपको Ash Shaheed के बारे में सिखने को मिलने वाला है.

आज आपको जानने को मिलेगा Ash Shaheed का मतलब क्या है, इसे कब और कितनी बार पढना चाहिए, और इसे पढने से क्या फायदा होने वाला है.

Ash Shaheed Meaning in Hindi

الشَّهِيدُ
ASH-SHAHEED
(हाज़िर)

गवाही, वह जो उसके पास से कुछ भी गैर हाजिर नहीं है।

अश शहीद को कब पढ़े?

Ash Shaheed पढने के लिए कोई भी समय मुक़र्रर नहीं है जब आपके पास समय हो पढ़ सकते है लेकिन बेहतर ये होता है की किसी भी नमाज़ के बाद पढ़े.

क्युकी नमाज़ के बाद पढने का मतलब यही है की आप पाक व साफ़ वजू के साथ होते है और इस हालत में पढ़ते है तो दुआ कुबूल होने का ज्यादा चांस ज्यादा होता है.

अगर आप चाहे तो नमाज़ के बाद अल मालिक को 100 बार पढ़ सकते है.

अश शहीद के फायदे और वजीफा क्या है?

benefits of reciting Ash Shaheed

  1. अगर किसी कि औलाद या किसी की बीवी नाफरमान हो गयी हो उसे चाहिए कि सुबह के वक़्त उसके माथे पर (पेशानी) हाथ रख कर “या शहीदु” इक्कीस बार पढ़ कर उस पर दम कर दे इंशाअल्लाह दोनों फरमा बरदार हो जायेंगे
  2. इस नाम पाक के मायने हैं हाजिर अल्लाह हर जगह मौजूद है अल्लाह के इस नाम को अगर कैदी पड़ा करें तो रिहाई अमल में आएगी बे औलाद पढ़ा करें तो औलाद होगी
  3. इस पाक नाम को एक कागज के चार कोनों पर लिखें और बीच में किसी खोई हुई चीज का नाम लिखें तो वह चीज मिल जाएगी
  4. जिस किसी के बच्चे नाफरमान हो वो सुबह के वक़्त यानी फज़र के वक़्त उस बच्चे की पेशानी पर हाथ रखकर और आसमान की तरफ मुँह करके 21 बार पढ़े अल्लाह उन्हें नेक कर देगा!
  5. जो इस नाम को पाबंदी से पढ़ेगा इंशाअल्लाह गुनाहों से परहेज़गारी नसीब होगी


5/5 - (1 vote)

Leave a Comment