Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Lyrics by Rais Anis Sabri

Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Lyrics is an Islamic song sung by Rais Anis Sabri. This song is for Mother and Father. In this song, the lyricist wrote all the things that our parents gave to us. The music Label is Sonic Enterprise

Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Credit Details

SongApne Maa Baap Ka Dil Na Dukha
SingerRais Anis Sabri
LyricsQaiser Samasti Puri
AlbumApne Maa Baap Ka Dil Na Dukha
Music LabelSonic Enterprise
apne maa baap ka tu dil na dukha lyrics

Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Lyrics in Hindi

अपनी जन्नत को ख़ुदा के लिए ! दोज़ख़ न बना
अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

मेरे मालिक, मेरे आक़ा, मेरे मौला ने कहा
अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

बाप के प्यार से अच्छी कोई दौलत क्या है !
माँ का आँचल जो सलामत है तो जन्नत क्या है !
ये हैं राज़ी तो नबी राज़ी है, राज़ी है ख़ुदा

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

उनकी ममता ने बहर-हाल सँभाला तुझ को
किस क़दर प्यार से माँ-बाप ने पाला तुझ को
रहमत-ए-मौला से कुछ कम नहीं साया इन का

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

जब भी देखा तो तुझे प्यार से देखा माँ ने
ख़ून-ए-दिल दूध कि सूरत में पिलाया माँ ने
तू ने इस प्यार के बदले में उसे कुछ न दिया

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

हर मुसीबत से बचाया ये करम है कि नहीं !
बोलना तुझ को सिखाया ये करम है कि नहीं !
कैसे पाला तुझे माँ-बाप ने क्या तुझ को पता !

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

तुझ को इंसान बनाया, तुझे तालीम भी दी
कभी देखी ही नहीं इन की मोहब्बत की कमी
क्या दिया तू ने मगर इन की मोहब्बत का सिला

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

इन की चाहत की बदौलत है कहानी तेरी
इन की क़ुर्बानी का सदक़ा है जवानी तेरी
अपनी आवाज़ को नादान तू पत्थर न बना

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

देख कर तेरी जवानी को ये मसरूर हुए
जो किए फ़ैसले तू ने, इन्हें मंज़ूर हुए
तेरी हर बात पे माँ-बाप ने लब्बैक कहा

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

तेरे माँ-बाप ने शादी भी रचाई तेरी
किस क़दर धूम से बरात सजाई तेरी
तू मगर इन के ख़यालात से बेगाना रहा

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

बीवी के आते ही चलने लगी नफ़रत की हवा
तुझ को बर्बाद न कर दे ये अदावत की हवा
यूँ गुनाहगार न बन, ख़ुद को गुनाहों से बचा

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

बूढ़े माँ-बाप को घर से जो निकाला तू ने
कर लिया अपने मुक़द्दर को भी काला तू ने
बाज़ आ वर्ना ख़ुदा भी न तुझे बख़्शेगा

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

जिस ने की तुझ से वफ़ा उस को सताने वाले
कल तेरे नाम पे थूकेंगे ज़माने वाले
तुझ से नाराज़ नबी हैं तो ख़ुदा भी है ख़फ़ा

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

तेरे माँ-बाप ने किस प्यार से पाला तुझ को
ख़ुद रहे भूके, दिया मुँह का निवाला तुझ को
इन की मुट्ठी में है नादान मुक़द्दर तेरा

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

तेरे बेटे भी कहाँ रोटियाँ देंगे तुझ को
ये भी तेरी ही तरह गालियाँ देंगे तुझ को
तू भी है साहिब-ए-औलाद ये क्यूँ भूल गया

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

उन से अच्छी नहीं देखी कोई सूरत, क़ैसर !
है सरापा ये मोहब्बत ही मोहब्बत, क़ैसर !
काम आती है बुरे वक़्त इन की ही दुआ

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

अपनी जन्नत को ख़ुदा के लिए ! दोज़ख़ न बना
अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

अपने माँ-बाप का तू दिल न दुखा, दिल न दुखा

Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Lyrics in English

Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Lyrics in Hindi

Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha
Apni Jannat ko khuda ke liye dozakh na bana

Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Mere Malik Mere Aqa Mere Maula ne kaha
Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Baap ke pyar se achhi koi daulat kya hai
Maa ka anchal jo salamat hai to jannat kya hai
Ye hai razi to nabi razi hai razi hai khuda

Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Jab bhi dekha to tuje pyar se dekha maa ne
Khun e dil dudh ki surat me pilaya maa ne
Tune is pyar ke badle me use kuchh na diya

Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Unki mamta ne bahar haal sambhala tujko
Is kadar pyar se maa baap ne paala tujko
Rehmat e bala se kuchh kam nahi saya unka

Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Tere maa baap ne kis pyar se paala tujko
Khud rahe bhukhe diya muh ka nivala tujko
Inki mutthi me hai nadan mukaddar tera

Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Tere bete bhi Kama rotiya denge tujko
Ye Bhi teri hi tarha galiya denge tujko
Tu bhi hai sahib e aulad ye kyu bhul gaya

Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Tunse achhi nahi dekhi koi surat keshar
Hai sarapa ye mohabbat hi mihabbat keshar
Kaam ati hai bhure vakt me unki hi dua

Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha
Apni Jannat ko khuda ke liye dozakh na bana
Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Mere Malik Mere Aqa Mere Maula ne kaha
Apne Maa Baap ka tu Dil na dukha dil na dukha

Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Official Video

apne maa baap ka tu dil na dukha lyrics

Who wrote the Lyrics of “Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha” Qawwali?

Qaiser Samasti Puri has written the Lyrics of “Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Lyrics”.

Who is the singer of “Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha” Qawwali?

Rais Anis Sabri have sung the Qawwali “Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha”. Anis Sabri is known for singing songs like Bhalai Kar Bhala Hoga, Chishti Rang, Zindagi Ek Kiraye ka Ghar Hai.

Who Album “Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha” Music Video?

Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha has Album the Music Video of “Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha”.

Related More Qawwali Lyrics:

Jazakallahu Khairan. hopefully, Apne Maa Baap Ka Tu Dil Na Dukha Lyrics Hindi & English is helpful to you and please let me know if you have any corrections or additions in the Contact us section.

If you have any issues regarding the Lyrics of this Qawwali, please contact us. Thank You For Visiting my namazquran.com website, I hope you come! Again

Leave a Comment