तेरी रहमतो का दरिया / Teri Rehmato ka Dariya Lyrics by Hamsar Hayat Nizami

Teri Rehmato Ka Dariya Lyrics is an Islamic Qawwali sung by Hamsar Hayat Nizami. Lyricist of the  qawwali is Hamsar Hayat Nizami. Music Label is JMD Music & Films

Teri Rehmato Ka Dariya Naat lyrics: The Qawwali song is sung by Hamsar Hayat Nizami. Teri Rehmato ka Dariya Lyrics Hindi & English roman both here Below.

Teri Rehmato ka Dariya Credit Details

Qawwali TitleTeri Rehmato Ka Dariya
Qawwali ArtistHamsar Hayat Nizami
Music DirectorSundram Khan, Suraj Kumar
LyricsHamsar Hayat Nizami , Mobin Tariq
RecordingS.Kalyani
Special ThanksIsmail Malik
CopyrightJMD Video
Teri Rehmato Ka Dariya is one of the best Qawwali by Hamsar Hayat Nizami.

तेरी रहमतो का दरिया Lyrics in Hindi

ख्वाजा तेरे करम से ज़माने में बात है
बन्दे को नाज है कि तू बंदा नवाज है

तेरी रहमतो का दरिया सरेआम चल रहा है
तेरी रहमतो का दरिया सरेआम चल रहा है
मुझे भीख मिल रही है तो मेरा काम चल रहा है
मुझे भीख मिल रही है तो मेरा काम चल रहा है

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

ख्वाजा मोईनोदीन करतबा दा राज है
भारत की सर जमीन पे ख्वाजा का राज है
जिसको नवाजा ख्वाजा ने वो सरफराज है
बन्दे को नाज है की तू बंदा नवाज है

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

दुनिया में जो कायम तेरे मंगतो का भरम है
ये तेरी इनायत है ये सब तेरा करम है
तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

नूर-ए नबी से दिल को मुन्नवर बना दिया
कतरे को तूने चाहा समंदर बना दिया
तेरे करम की ख्वाजा मैं और क्या मिसाल दूँ
किस्मत का तूने मुझे सिकंदर बना दिया

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

चमका दिए है तूने मुक्कदर के सितारे
रेहमत के फूल खिल गए आँगन में हमारे
तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

तुमने लुटाया है दर कद्दार का सदका
तूने दिया है एहमद-ए मुख्तार का सदका
तेरा बड़ा एहसान मेरे खानदान पर
खाते है हम ख्वाजा तेरे दरबार का सदका

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

नूर-ए नबी का नूर है तू पंजतनी है
दोनों जाहां में तुझसे मेरी बात बनी है
तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

मुश्किल कुशा का लाल है औलाद पयंबर
तेरे करम से हो गए अब दाल कलंदर
ख्वाजा तेरी गुलामी पे हम सबको नाज है
ख्वाजा मेरा पैजान करम का है समंदर

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

तन मन को मेरे रंग दिया चिस्ती बाहार से
शाहो ने भीख पाई है तेरे दयार से
तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

तू है अता-ए मुस्तपा इमां का उजाला
तेरे करम ने सारे ज़माने को संभाला
मशहूर कर दिया है मुझे सारे जाहाँ में
कहता मोइनुदीन का है चाहने वाला

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

तेरी मस्त ये नज़र से बना चिस्ती मैकदा है
तेरी मस्त ये नज़र से बना चिस्ती मैकदा है
कहीं मैं बरस रही है कही जाम चल रहा है
कहीं मैं बरस रही है कही जाम चल रहा है

उसे क्या मिटाये दुनिया जिसे आपने नवादा
उसे क्या मिटाये दुनिया जिसे आपने नवादा
नक़्शे कदम पे तेरे ये गुलाम चल रहा है
नक़्शे कदम पे तेरे ये गुलाम चल रहा है

तारीकियों में गम था ये हयात सूफी हमसर
तारीकियों में गम था ये हयात सूफी हमसर
तेरी निस्बतों के सदके में ये निज़ाम चल रहा है
तेरी निस्बतों के सदके में ये निज़ाम चल रहा है

तेरी रहमतो का दरिया सरेआम चल रहा है
तेरी रहमतो का दरिया सरेआम चल रहा है

Teri Rehmato ka Dariya Lyrics in English

Khwaja tere karm se zmaane me baat hai
Ya greeb nwaaz Khwaja jiii…
Khwaja tere karm se zmaane me baat hai
Bande ko naaz hai ki tu Banda Nawaaz hai

Teri rehmato ka dariya, Teri rehmato ka dariya
Teri rehmato ka dariya, Teri rehmato ka dariya
Teri rehmato ka dariya, Teri rehmato ka dariya

Teri rehmato ka dariya sare aam chal raha hai (x7)
Mujhe bheek mil rahi hai, Mujhe bheek mil rahi hai

Mujhe bheek mil rahi hai mera kaam chal raha hai (x3)

Mere dil ki dhadkano me hai Shareek naam tera
Isi naam ki badaulat mera kaam chal raha hai

Tere maste nazar se hai bahar maikade ki
Wahi mai baras rahi hai wahi jaam chal raha hai

Yeh karam hai khaas tera ke safina zindagi ka
Kabhi subah chal raha kabhi shaam chal raha hai

Usse chahati hai duniya usse dhundti hai manzil
Rah e Ishq e Mustafa me jo gulam chal raha hai

Mere Daman e Gadhai me hai bheek Mustafai
Isi bheek par toh Qasim mera kaam chal raha hai

Teri rehmato ka dariya sare aam chal raha hai
Mujhe bheek mil rahi hai mera kaam chal raha hai
Mere dil ki dhadkano me hai Shareek naam tera
Isi naam ki badaulat mera kaam chal raha hai

Tere maste nazar se hai bahar maikade ki
Wahi mai baras rahi hai wahi jaam chal raha hai

Yeh karam hai khaas tera ke safina zindagi ka
Kabhi subah chal raha kabhi shaam chal raha hai

Usse chahati hai duniya usse dhundti hai manzil
Rah e Ishq e Mustafa me jo gulam chal raha hai

Mere Daman e Gadhai me hai bheek Mustafai
Isi bheek par toh Qasim mera kaam chal raha hai

Check Out the Video Teri Rehmato Ka Dariya Lyrics of the Above Lyrics

Teri Rahamaton ka Dariya Sareaam Chal Raha Hai

Who wrote the Lyrics of “Teri Rehmato Ka Dariya” Qawwali?

Hamsar Hayat Nizami , Mobin Tariq has written the Lyrics of “Teri Rehmato Ka Dariya Lyrics”.

Who is the singer of “Teri Rehmato Ka Dariya” Qawwali?

Hamsar Hayat Nizami have sung the Qawwali “Teri Rehmato Ka Dariya”. Hamsar Hayat Nizami is known for singing songs like Ajmer ki Galiyon Mein, Sai Tu Meri Fariyad Sun Sai, Khwaja ka Raj.

Related More Qawwali Lyrics:

Jazakallahu Khairan. hopefully, Teri Rehmato ka Dariya Lyrics Hindi & English is helpful to you and please let me know if you have any corrections or additions in the Contact us section.

If you have any issues regarding the Lyrics of this Qawwali, please contact us. Thank You For Visiting my namazquran.com website, I hope you come! Again

Leave a Comment