घर में दाखिल होने की दुआ | Ghar me Dakhil Hone ki Dua

5/5 - (1 vote)

अस्सलाम अलैकुम दोस्तों, क्या आपको मालूम है घर में दाखिल होने की  दुआ भी पढ़ा जाता है, जिससे अल्लाह ता’अला की रहमत से महफूज रहता है और घर सैतान से महफूज़ रहता है, जो har me Dakhil Hone ki Dua को पढता है.

आप इस आर्टिकल को कम्पलीट पढ़े आपको मालूम चल जाएगा की दाखिल होते वक़्त dua कौन सी पढ़ी जाती है और इसका तरीका क्या है.

पिछले आर्टिकल आपको घर से निकलने की दुआ को बताया था अगर वो पोस्ट नहीं पढ़ा है तो पढ़ लीजिए.

Ghar me Dakhil Hone ki Dua

हर शख़्स दिन से रात तक बहुत बार अपने घर से बाहर निकलता है, जैसे मस्जिद में नमाज़ पढ़ने के लिये, घर के कामों के लिये वो अपने घर से बाहर निकलता है, जब भी अपने घर के लिए लौटे तो Ghar me Dakhil Hone ki Dua ज़रूर पढ़े इस दुआ को पढ़ने से सुन्नत पर अमल होगा और ज्यादा सवाब मिलेग।

ghar me dakhil hone ki dua images
Ghar me Dakhil Hone ki Dua Images

Hindi : बिस्मिल्लाहि व लज्ना, व बिस्मिल्लाहि खरज्ना, व अला रब्बिना तवक्कलना

English : Bismillahi Wa Lajna,Wa Bismillahi Kharajna, Wa Ala Rabbina Tawakkalna

तर्जुमा : अल्लाह के नाम पर हम दाख़िल होते हैं और अल्लाह ही के नाम पर हम निकलते हैं, और अपने रब पर हम भरोसा रखते हैं।

English Meaning: O Allah, I seek a good entry and a good exit. We take Allah’s name to enter and to exit and rely on Him who is our Lord.

Hadees: एक हदीस में आता है की

“जब आदमी अपने घर में दाखिल होने और खाना खाने के वक़्त अल्लाह ता’अला को याद करता है तो शैतान (अपने चेलों से) कहता है के उस घर में तुम्हारे लिए रात गुज़ारने का ठिकाना नहीं है और न ही रात के खाने में तुमहारा हिस्सा है”

Read More:

घर से बाहर निकलते वक़्त की दुआ

बैतूल खला जाने और निकलने की दुआ

नए कपड़े पहनने की दुआ

Khana Khane ki Dua

आप निचे कमेंट में बताए की ये Ghar me Dakhil Hone ki Dua आपको कैसा लगा और इसी तरह और दुआ पढने की लिए वेबसाइट पर सर्च करे.

Sharing Is Caring:

Leave a Comment