Hara Gumbad Jo Dekhoge Lyrics in Hindi & English

Hara Gumbad Jo Dekhoge Lyrics: This beautiful Naat is sung by Two Naat Khawan यासिर सोहरवर्दी  and अल्लामा हाफ़िज़ बिलाल क़ादरी in his melodious voice.

Hara Gumbad Jo Dekhoge Lyrics in English

Hara Gumbad Jo Dekhoge Tu Dunya Bhool Jaoge –4
Agar Taiba ko Jaoge tu Ana Bhool Jaoge 2
Hara Gumbad Jo Dekhoge Tu Dunya Bhool Jaoge –1

Na itrao Ziada Chand taro Apni Rangat Par –2
Mere Aaqa Ko Dekhoge Tu Chamakna Bhool Jaoge –2
Hara Gumbad Jo Dekhoge Tu Dunya Bhool Jaoge –1

Agar Tum Jaanlo Ek Hafiz-E-Quran Ki Azmath 3
Tum Apnay Bachao ko English Padhana Bhool Jaoge –2
Agar Taiba Ko Jaoge Tu Ana Bhool Jaoge –1

Hadees-E-Mustafa Par Tum Jo Hojao Amal Paira —2
Qasim Allah Kabhi Maa Satana Bhool Jaoge –2
Agar Taiba Ko Jaoge Tu Ana Bhool Jaoge –1

Agar Tum gaor say Mere Nabi Ki Naat Sunloge –2
Mere Dawa Hai Tum Gaana Bajana Bhool Jaoge –2
Agar Taiba Ko Jaoge Tu Ana Bhool Jaoge –1

Tumare Samnay Huga Kabi Jab Gumbad-E-Qazra –2
Nazar Jam Jaige Usper Hatana Bhool Jaoge –2
Agar Taiba Ko Jaoge Tu Ana Bhool Jaoge –1

Hara Gumbad Jo Dekhoge Lyrics in Hindi

Naat Khawan: यासिर सोहरवर्दी – हुदा सिस्टर्स – लाइबा फ़ातिमा

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
अगर तयबा को जाओगे, तो आना भूल जाओगे

न इतराओ ज़्यादा चाँद तारो अपनी रंगत पर
मेरे आक़ा को देखोगे चमकना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
अगर तयबा को जाओगे, तो आना भूल जाओगे

अगर तुम गौर से मेरे नबी की नात सुन लोगे
मेरा दावा है तुम गाना-बजाना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
अगर तयबा को जाओगे, तो आना भूल जाओगे

तुम्हारे सामने होगा कभी जब गुम्बद-ए-ख़ज़रा
नज़र जम जाएगी उस पर, उठाना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
अगर तयबा को जाओगे, तो आना भूल जाओगे

हदीस-ए-मुस्तफ़ा पर तुम जो हो जाओ अमल-पैरा
क़सम अल्लाह की ! माँ को सताना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
अगर तयबा को जाओगे, तो आना भूल जाओगे

Hara Gumbad jo Dekhoge Zamana Bhool Jaoge Lyrics in Hindi

Naat Khawan: अल्लामा हाफ़िज़ बिलाल क़ादरी

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
मदीना जाओगे इक बार, आना भूल जाओगे

न इतराओ ज़्यादा चाँद तारो अपनी रंगत पर
रुख़-ए-सरवर के आगे जगमगाना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
मदीना जाओगे इक बार, आना भूल जाओगे

नबी के दर की सूखी रोटियों में ऐसी लज़्ज़त है
शहंशाहों के दर का आब-ओ-दाना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
मदीना जाओगे इक बार, आना भूल जाओगे

जो तुम ‘क़ुल इन्नमा’ की, मुन्किरो ! तफ़्सीर को पढ़ लो
तो अपने जैसा तुम उन को बताना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
मदीना जाओगे इक बार, आना भूल जाओगे

हदीस-ए-मुस्तफ़ा पर तुम जो हो जाओ अमल-पैरा
क़सम अल्लाह की ! माँ को सताना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
मदीना जाओगे इक बार, आना भूल जाओगे

कभी आ कर के देखो महफ़िल-ए-ना’त-ए-शह-ए-दीं में
तो मेरा दावा है गाना-बजाना भूल जाओगे

हरा गुम्बद जो देखोगे, ज़माना भूल जाओगे
मदीना जाओगे इक बार, आना भूल जाओगे

Hara Gumbad Jo Dekhoge Jamana Bhul Jaaoge Check Out Video

Agar Taiba ko Jaoge toh Aana Bhool Jaoge Naat Lyrics

Related More Naat Sharif Lyrics List:

Jazakallahu Khairan. hopefully, Hara Gumbad Jo Dekhoge Lyrics Hindi & English is helpful to you and please let me know if you have any corrections or additions in the Contact us section.

If you have any issues regarding the Lyrics of this Naat Sharif Lyrics, please contact us. Thank You For Visiting my namazquran.com website, I hope you come! Again

5/5 - (5 votes)

Leave a Comment